Home > Weight Loss > Vajan Or Motapa Kam Karne Ki Ayurvedic Dawa

Vajan Or Motapa Kam Karne Ki Ayurvedic Dawa

वजन और मोटापा कम करने की आयुर्वेदिक दवा-

बढ़ा हुआ वजन और मोटापा अगर कर रहा है आपको परेशान, तो इस हिंदी लेख को पूरा पढें, क्योंकि हम इस हिंदी लेख में बता रहे हैं वजन कम करने और मोटापा घटाने के लिए बहुत ही छोटे और आसन से उपायों के बारे में, जिन्हें आप बिना किसी परेशानी के घर पर ही कर सकते हैं और बन सकते हैं फिट और स्लिम पर्सनेलिटी के मालिक।

वजन और मोटापा करें कम-

1. मोटापा और पेट की चर्बी कम करने के लिए सबसे आसान उपाय है आप अपने दिन शुरूआत करें नींबू से। पेट की एक्स्ट्रा चर्बी को कम करने में बहुत काम आता है नींबू। गरम पानी में एक नींबू का रस निचौड़ लें और इसमें थोड़ा नमक मिलाकर रोजाना सुबह सुबह उठकर खाली पेट इसे पियें।

2. अगर मैं परहेज की बात करूं, तो आप ज्यादा मीठा खाने से बचें। खासकर मिठाई का सेवन बिल्कुल बंद कर दें। मीठे पदार्थ चर्बी को बढ़ाने का काम करते हैं।

3. पूरे दिन में हर 15 से 20 मिनट में खूब पानी पियें। इससे भी पेट की चर्बी कम होती है। पेट की शिकायत नहीं रहती और पानी ज्यादा पीने से हमारे शरीर में जितने भी विषैले पदार्थ होते हैं, वो बाहर निकल जाते हैं, जिससे हमारा स्वास्थ्य भी बना रहता है।

4. लहसुन की 2 से 3 कच्ची कलियां सुबह-सुबह खायें और ऊपर से गुनगुने पानी में नींबू का रस मिलाकर पी जायें। मोटापा तो कम करेगा ही यह नुस्खा, इसके अलावा आपकी बॉडी में ब्लड सर्कुलेशन को भी बनाये रखेगा।

Vajan Or Motapa Kam Karne Ki Ayurvedic Dawa

तो ये थे कुछ छोटे, लेकिन काम के नुस्खे, जिन्हें आप करें। आपका मोटापा कम करने में आपकी काफी मदद करेंगे।

Vajan Or Motapa Kam Karne Ki Ayurvedic Dawa
Surajherbals.com


अगर आप अपना मोटापा और वजन कम करने के लिए किसी दवा की खोज में हैं, तो हम आपको एक दवा की सलाह देंगे, जोकि Pure Herbal आयुर्वेदिक दवा है। जिसका नाम है- Suraj Weight Loss Powder.
साथ ही Suraj’s SlimOsur Capsules भी आते हैं। ये दोनों दवाईयाँ पूरी तरह आयुर्वेदिक हैं, इनका कोई साइड इफेक्ट नहीं है और बिल्कुल सुरक्षित हैं। नेचुरल तरीके से ये दवाईयाँ आपका वजन और मोटापा कम करते हैं, चर्बी को कम करते हैं, आपके अंदर चुस्ती-फुर्ती बनाये रखते हैं और बॉडी में ब्लड सर्कुलेशन को ठीक करते हैं, जिससे शरीर के साथ-साथ चेहरा भी खिला-खिला रहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *