Home > De Addiction Powder > नशा छुड़ाने की आयुर्वेदिक दवा, शराब से मुक्ति के अचूक उपाय
nasha mukti ki Ayurvedic dawa

नशा छुड़ाने की आयुर्वेदिक दवा, शराब से मुक्ति के अचूक उपाय

शराब की लत से छुटकारा पाने के उपाय

शराब की लत या शराबी व्यक्ति के बारे में चर्चा करने से पहले हम कहना चाहेंगे कि अति हर चीज की बुरी होती है। ऐसा ही शराब की लत के विषय में भी है, जरा-जरा और कभी-कभी करके शराब कब हमारी लत और बेकार की जरूरत बन जाती है, पता ही नहीं चलता। हम शराब के गुलाम बनकर रह जाते हैं। दिमाग में शराब का घंटा बजते की कदम खुद-ब-खुद शराब के ठेके की ओर बढ़ने लगते हैं। जबकि हर पीने वाला व्यक्ति जानता है कि शराब स्वास्थ्य के लिए हानिकार होती है, लेकिन फिर भी वह पीता है। धीरे-धीरे यह स्थिति यह हो जाती है कि शराबी व्यक्ति खुद चाहकर भी शराब नहीं छोड़ पाता। वह तिल-तिल कर मरने पर मजबूर हो जाता है। यहां तक कि शराबी व्यक्ति के परिवारजन भी उससे बेहद दुखी और परेशान रहने लगते हैं और उन्हें मजबूरन नशा मुक्ति केंद्र का सहारा लेना पड़ता है, क्योंकि उन्हें केवल यही नशा मुक्ति का उपाय नजर आता है।
इसलिए वक्त रहते नशाखोरी से मुक्ति पा लेना जरूरी है। यानी शराब की लत पर काबू पा लेना चाहिए। शराब ही क्या किसी भी प्रकार का नशा छोड़ देना चाहिए वरना भविष्य में नशीले पदार्थ के दुष्परिणाम आपको भुगतने पड़ सकते हैं।
अब प्रश्न यह उठता है कि मादक पदार्थों के सेवन की रोकथाम कैसे की जाये। यानी कि शराब से छुटकारा कैसे पायें? तो चलिए शराब से छुटकार पाने के उपाय जानने से पहले हम मादक पदार्थ दुष्परिणाम और शराब की लत के लक्षणों पर चर्चा कर लेते हैं।

शराब की लत के लक्षण

अगर आपके घर-परिवार में भी कोई व्यक्ति शराब पीता है और आप जानना चाहते हैं कि कहीं वो व्यक्ति शराब की लत का शिकार नहीं हो गया है, तो नीचे दिये लक्षणों से आप उसकी शराब की लत की पहचान कर सकते हैं।

शराब की आदत पड़ जाने पर व्यक्ति में सामान्यतौर पर यह लक्षण नजर आते हैं :

  1. बिना कारण और साथ के अकेले ही शराब पीना।
  2. शराब ना मिलने पर बेचैन और व्याकुल हो जाना।
  3. क्रोधित स्वभाव हो जाना और एकदम से मूड बदलते रहना।
  4. मानसिक थकावट महसूस होना।
  5. छोट-छोटी बातें भूल जाना।
  6. बिना शराब के नींद नहीं आना।
  7. खाना सही तरीके से नहीं आना या बहुत कम खाना।
  8. पसीना अधिक आना, विशेषकर हथेलियों और पैर के तलवे पर।
  9. शरीर का कांपना या ऐंठन होना।
  10. शराब पीने के बहाने व अवसर ढूंढना।
  11. कर्ज लेकर शराब पीना आदि।

Sharab Chhodone Ka Aasaan Tarika

शराब की लत के नुकसान

शराब पीने की लत के भविष्य में कितने घातक परिणाम सामने आ सकते हैं, इसका अंदाजा पीने वाला व्यक्ति नहीं लगा सकता, क्योंकि उसपर तो केवल पीने की धुन सवार रहती है और वह शराब के चंगुल में बुरी तरह फंस चुका होता है। शराब की लत से केवल शराबी ही नहीं, बल्कि उसके परिवार वाले भी दुखी रहते हैं। वे भी मानसिक प्रताड़ना झेल रहे होते हैं। रिश्तेदारी, आस-पड़ोस व समाज में शराबी व्यक्ति की और शराबी व्यक्ति के परिवारजनों की कोई इज्जत नहीं होती।
इसके अलावा स्वास्थ्य नुकसान की बात करें, तो अधिक मदिरापान करने से किडनी पर बहुत असर पड़ता है। हमारी बॉडी में एक ऐसा हार्मोन होता है, जो किडनियों को अधिक मात्रा में यूरिन बनाने से रोकता है और शराबी व्यक्ति का दिमाग उस हार्मोन को नुकसान पहुंचा सकता है, जिससे यूरिन संबंधी समस्या आ सकती है। अर्थात् अधिक मात्रा में शराब का सेवन करने वाले व्यक्ति को बार-बार पेशाब जाना पड़ता है, जिससे किडनियों के खराब होने की संभावना बढ़ जाती है। अल्कोहल को पचाने का काम शरीर में जाने के बाद अल्कोहल को प्रोसेस करने का काम लिवर करता है। बॉडी में अल्कोहल को पचाने से संबधित सारी प्रक्रिया लिवर करता है और इसी माध्यम से अल्कोहल में मौजूद टॉक्सिन्स, लिवर तक भी पहुंच जाते हैं। जिस वजह से लिवर फूल जाता है और इस समस्या को फैटी लिवर कहते हैं, जोकि स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। अब इसी बात से अनुमान लगा लीजिए कि मादक पदार्थों का शरीर पर क्या प्रभाव होता है? इसलिए समय रहते शराब से मोह भंग कर लें, वरना भविष्य में मधुमेह रोगी बनने के साथ-साथ पैंक्रियाटिक कैंसर से ग्रस्त होने की संभावना भी बढ़ सकती है।

शराब से पाचनतंत्र कमजोर हो जाता है। इसके अलावा एसिडिटी की शिकायत बनी रहती है। दरअसल अल्कोहल शरीर में पहुंच कर सीधा पेट की अंदरूनी दीवार पर असर करता है, जिसमें पाचस रस निकलता है। ऐसे में जब अल्कोहल, पाचक रस के सम्पर्क में आता है, तो एसिडिटी की समस्या होने लगती है।
अगर आप इन सभी स्वास्थ्य समस्याओं से बचना चाहते हैं, तो शराब पीना बिल्कुल बंद कर दें। मादक पदार्थों का सेवन करना बंद करें, मादक पदार्थ के प्रकार कुछ भी हो सकते है जैसे- शराब, बीड़ी, सिगरेट, तम्बाकू, गांजा आदि।

शराब से छुटकारा कैसे पायें?

शराब व्यस्न मुक्ति यानी शराब की लत से छुटकारा पाने के लिए सबसे जरूरी है खुद का दृढ़ संकल्पित होना। जबतक आप खुद से शराब नहीं छोड़ना चाहोगे, तबतक आप या कोई भी कुछ भी कर लें, नशा मुक्ति अभियान चला लें, नशा मुक्ति मेडिसिन का सेवन कर लें, नशा मुक्ति की दवा खा लें, लेकिन दारू व्यस्न मुक्ति यानी शराब की लत से छुटकारा प्राप्त नहीं कर सकते। इसलिए सबसे पहले खुद अपने आप से वादा करें कि मैं शराब छोड़ दूंगा, शराब को जीवन में कभी हाथ नहीं लगाऊंगा, इसके बाद कहीं जाकर आप अन्य घरेलू उपायों से या फिर शराब छुड़ाने की आयुर्वेदिक दवा का सेवन करके अपनी शराब की लत से छुटकारा पाने में सफल हो सकते हैं।

शराब की लत से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय

  1. तुलसी की कोमल पत्तियों को रोजाना सुबह-सुबह चबायें। इससे आपके शरीर और मन के अंदर की सभी गंदगी साफ होंगी और धीरे-धीरे आप खुद ही शराब से दूर होने लगेंगे।
  2. करेले के पत्तों का रस निकाल कर, इसे दो चम्मच छांछ में मिलाकर रोजाना सुबह खाली पेट पियें। यह नुस्खा आपकी बॉडी से विषैले पदार्थ को बाहर निकाल देगा और आपकी शराब पीने की इच्छा को भी कम कर देगा।
  3. जब भी शराब पीने की इच्छा परेशान करे, तो आप एक काम करें। एक चम्मच शहद में अदरक की 2 से 3 बूँदें मिलाकर सेवन करें। तुरन्त आपकी शराब पीने की इच्छा मर जायेगी।
  4. एक और सबसे आसान उपाय करें कि आप रोजाना अंगूर खायें, क्योंकि शराब अंगूर से ही बनी होती है, इसलिए इसे खाने से खुद-ब-खुद आपकी शराब की आदत छूट जायेगी।
  5. 150 ग्राम अजवाइन को दो लीटर पानी में डालकर अच्छे से उबालें, जब तक पानी की मात्रा आधी ना रह जाये। इसके बाद इस पानी को ठंडा होने पर किसी साफ कांच की बोतल में भरकर रख लें। दिन में दो बार आधा गिलास इस पानी को पिएं। धीरे-धीरे आपकी शराब की लत छूट जायेगी।
  6. इन नुस्खों के अलावा आप कुछ बातों का ध्यान रखें जैसे- खुद को व्यस्त रखें, ताकि आपको शराब पीने के लिए समय ही ना मिल सके, एकांत में ना रहें, परिवार के साथ समय अधिक बितायें, अधिक देर तक भूखे ना रहें, क्योंकि खाली पेट शराब की लत ज्यादा परेशान करती है।

शराब छुड़ाने की आयुर्वेदिक दवा कौन-सी लें?

नशा मुक्ति आयुर्वेदिक दवाईयां आज बाजार में अधिक मात्रा में उपलब्ध हैं, ऐसे में किसी एक आयुर्वेदिक दवा का चयन कर पाना, मुश्किल हो जाता है। मगर फिर भी आपकी सुविधा के लिए हम आपको एक बहुत ही फायदेमंद, भरोसेमंद व शराबी व्यक्तियों पर आजमायी हुई अचूक रामबाण आयुर्वेदिक दवा के बारे में बताना चाहेंगे।
दवा का नाम है- Suraj’s AddictOsur Powder. यह दवा शुद्ध जड़ी बूटियों के मिश्रण से तैयार की गई है, जोकि पाउडर के रूप में आती है। किसी भी प्रकार का कोई स्टेरॉयड्स या केमिकल्स का इस्तेमाल इसमें नहीं किया गया है, इसलिए इस दवा के सेवन से कोई भी साइड इफेक्ट नहीं होता है। इस दवा का पूरा कोर्स करने से शराबी की शराब की लत पूरी तरह छूट जाती है। वह शराब से नफरत करने लगता है और शराब पीने वालों से भी दूरी बनाने लगता। ना खुद पीता है और अपने सामने किसी को पीने देता है। हैं। आपके घर की खुशियां लौट आती हैं।

बिना बताये शराब छुड़ायें

Suraj’s AddictOsur Powder को आप चुपके से शराबी व्यक्ति के खाने-पीने की चीजों में मिलाकर दें दें। इस दवा का टेस्ट भी कुछ इस तरह से बनाया गया है, कि शराबी को एहसास तक नहीं होता कि उसे कुछ दिया गया है। कुछ ही दिनों में शराब की आदत छूटने लगती है और धीरे-धीरे एक वक्त ऐसा भी आता है, जब शराबी पूरी तरह शराब से नाता तोड़ लेता है। शराब के नाम से ही उसे चिढ़ होने लगती है।

Suraj’s AddictOsur Powder किस तरह काम करता है?

  1. यह दवा शरीर में अच्छे से घुलकर सबसे पहले शरीर से विषैले पदार्थों (Toxins) को बाहर निकाल फेंकती है, जिससे शराब के लिए उकसाने वाले किटाणु भी बाहर निकल जाते हैं या अंदर ही मर जाते हैं।
  2. आपके दिमाग को पूरी तरह शांत और तनावरहित रखती है, जिससे आप अपना अच्छा-बुरा सही से समझ पाते हैं। आपके दिमाग को अपने नियंत्रण में करके यह दवा आपको शराब से दूर रखने में मदद करती है।
  3. आत्मशक्ति को बढ़ाती है, जिससे आप अपनी शराब पीने की इच्छा पर काबू रख पाते हैं और शराब से दूरी बनाने लगते हैं।
  4. शराब पीने की इच्छा को समाप्त करती है।

2 thoughts on “नशा छुड़ाने की आयुर्वेदिक दवा, शराब से मुक्ति के अचूक उपाय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *