Home > नशा मुक्ति > शराब छोड़ने के 6 घरेलू नुस्खे

शराब छोड़ने के 6 घरेलू नुस्खे

अक्सर लोग शौकिया तौर पर शराब पीने की शुरूआत करते हैं। लेकिन कब ये पीने की शुरूआत धीरे-धीरे लत में बदल जाती है, पता ही नहीं चलता। बस आज-आज, करके रोज ही sharab peene ki aadat बन जाती है। फिर एक दिन ऐसा आता है व्यक्ति की जिंदगी का हिस्सा ही बन जाती है शराब। पीने वाला चाहकर भी शराब की आदत को छोड़ नहीं पाता है। वैसे भी आजकल शादी समारोह या किसी भी खुशनुमा पार्टी में शराब का दौर ना चले तो जैसे अधूरा-सा लगता है। जैसे फैशन-सा चल पड़ा हो। यहां तक की बड़ों को पीता देखकर कम उम्र बच्चे भी शराब के शौकीन बनते जा रहे हैं। जोकि एक गंभीर विषय है।

शराब की लत कैसे छोड़ें? (How to quit alcohol addiction?)

शराब की लत व्यक्ति के स्वास्थ्य को तो नुकसान पहुंचाता ही है। साथ ही शराब की लत के शिकार व्यक्ति के परिजन भी बहुत दुखी रहते हैं। आर्थिक नुकसान, स्वास्थ्य नुकसान के साथ घर की सुख-शांति भी कहीं खो जाती है। शराब का आदि व्यक्ति अपने होशो-हवास खो बैठता है। अपना ही बुरा-भला सोचने व समझने की शक्ति खो बैठता। यहां तक समाज के लिए भी खतरा बन सकता है। क्योंकि अधिक पीने वाला व्यक्ति अपराध करने से भी पीछे नहीं हटता। इसलिए वक्त रहते शराब की लत छुड़ाने के उपाय करने लेने चाहिए। व्यक्ति सोचना चाहिए आखिर शराब की लत कैसे छुड़ायें। तभी वे खुद से शराब छोड़ पायेगा और घर की सुख-शांति वापिस लौट पायेगी।

शराब पीने के नुकसान  (Sharab peene ke nuksan)

जो व्यक्ति शराब की लत का शिकार होता है। उसके लिए कहीं से भी शराब लाभदायक नहीं हो सकती। बल्कि किसी भी व्यक्ति के लिए शराब पीना उचित नहीं है। इससे स्वास्थ्य नुकसान होता है। आर्थिक नुकसान होता है। घर-परिवार की सुख-शांति का नुकसान होता है। यहां तक कि शराब भी व्यक्ति के मान-सम्मान का भी नुकसान होता है। घर-परिवार के साथ-साथ समाज में भी शराब पीने वाले व्यक्ति की कोई इज्जत नहीं होती। लोग उसे हीन नजरों से देखते हैं। यहां तक कि पीने वाले व्यक्ति के परिजन को देखकर भी लोग हंसी उड़ाते हैं। कहते हैं वो देखो शराबी की मां। शराबी की बहन। शराब का भाई। बड़ी दयनीय स्थिति हो जाती है।

जहां तक शारीरिक नुकसान की बात है। तो शराबी व्यक्ति का लीवर खराब हो सकता है। किडनी प्रभावित हो सकती है। हाई ब्लडप्रेशन की शिकायत रह सकती है। फिर भी व्यक्ति शराब की लत को नहीं छोड़ता है। लंबे समय तक लगातार शराब का सेवन करनता है, तो वह किसी गंभीर बीमारी का शिकार हो सकता है। यहां तक आंकड़ों के अनुसार भारत में हर साल 40 प्रतिशत मौत शराब पीने के कारण ही होती है। पीने वाला व्यक्ति को मर जाता है। लेकिन अपने पीछे लाखों दुख अपने घरवालों को दे जाता है। कोई मां अपने बेटा खो देती है। बीवी अपना पति खा देती है। बच्चे पिता का साया खो बैठते हैं। इसलिए शराब से दुश्मनी करें और अपनों से प्यार।

दारू पीने की लत कैसे छुड़ायें?

समय रहते शराब पीने की आदत को छुड़ाना बहुत जरूरी है। इससे पहले कि देर हो जाये और बच्चों पर भी इसका गलत प्रभाव पड़े शराब की लत छोड़ना आवश्यक है। कई लोग कुछ दिन तो शराब छोड़ देते हैं। लेकिन फिर उनका सब्र जवाब दे जाता है। वह फिर से पीना शुरू कर देते हैं और अंधाधुंध पीते हैं। जोकि और भी माहौल को बिगाड़ देता है। ऐसे में शराबी व्यक्ति को परिजनों को भी चाहिए कि वो पीने वाले व्यक्ति से बात करें। उसे समझाने का प्रयास करे और उसका साथ दे। अपनों का साथ पाकर शायद उसे हौसला मिले। वह शराब की लत को छोड़ने के लिए अंदर से प्रेरित हो सके। आपको उसका मनोबल बढ़ाना चाहिए। उसे एहसास दिलायें कि वह शराब की लत को आसानी से छोड़ सकता है। आप उनके साथ हैं। शराब के बिना भी जिंदगी उतनी ही खूबसरत है, जितनी पीने के बाद भी नहीं है।

घरेलू तरीके से शराब की लत कैसे छुड़ायें?

जैसा कि हमने ऊपर बताया कि परिजनों की सहायता से शराबी व्यक्ति को शराब से दूर किया जा सकता है। इसलिए उसका साथ दें और उसे समझाने का प्रयास जारी रखें। साथ ही आयुर्वेदिक उपाचार की मदद से भी आप शराबी व्यक्ति की शराब पीने की आदत को छुड़वा सकते हैं। बिना बतायें शराब नशा छुड़ाने के आयुर्वेदिक उपचार की मदद से संभव हो सकता है। साथ ही शराब की लत छुड़ाने के घरेलू उपाय की मदद से भी आप शराब से छुटकारा प्राप्त कर सकते है। आइए जानते हैं शराब की लत कैसे छुड़ायें? (sharab ki lat kaise chhudaye?)

शराब की लत छोड़ने के 6 घरेलू नुस्खे

 (1.) अजवाइन

यह एक ऐसी घरेलू जड़ी-बूटी है जो शराब की लत में बहुत उपयोगी है। यह किसी प्रकार के नशे से आपको मुक्ति दिलाने में बेहद कारगर है। शराब की लत को छोड़ने के लिए अजवाइन का इस्तेमाल कैसे करें, इस बारें जानते हैं।

आप अजवाइन की जितनी मात्रा लें, उससे 8 गुना अधिक पानी आपको लेना है। मान लीजिए आपने आधा किले अजवाइन लिया। इस हिसाब से आपको 4 लीटर पानी लेना है। या फिर 1 किलो अजवाइन आपने लिया तो आपको 8 लीटर के करीब पानी का इस्तेमाल करना है। इस जीरा मिश्रित पानी को आपने गैस पर इतना खौलना है पानी की मात्रा आधी रह जाये।

अब इस पानी को गुनगुना होने पर एक साफ शीशी या बोतल में भरकर रख लीजिए। जिस भी व्यक्ति की शराब की लत को आप छुड़ाने चाहते हैं। उस व्यक्ति को दिने में 2 से तीन पर भोजन से पहले एक कप यह पानी पिलायें। ऐसा करने से धीरे-धीरे शरीब व्यक्ति की पीने की लत कम होना शुरू हो जायेगी। फिर एक दिन ऐसा भी आयेगी कि शराब की आदत पूरी तरह दूर हो जायेगी। यह बहुत ही माना हुआ और पुराना शराब छुड़ाने का देसी नुस्खा है।

(2.) सेब का रस

शराब पीने की आदत को कम करने के लिए सेब का रस बेहतर होता है। या फिर भोजन के बाद एक सेब खाने से भी शराब की लत में कमी आना शुरू हो जाती है। सेब की मदद से शराब की लत को कैसे कम करें, इस विषय में जानते हैं।

आपको बस इतना करना है कि सेब को उबालना है और शराबी व्यक्ति रोजाना खिलाना है। आप किसी भी समय खिला सकते हैं। धीरे-धीरे शराब व्यक्ति शराब पीना कम कर देगा। एक समय आयेगा जब उसकी शराब की आदत पूरी तरह छूट जायेगी।

(3.) किशमिश

अगर शराब की लत में डुबे हुए व्यक्ति को रोजाना किशमिश का सेवन कराय जाये। तो वह शराब की लत से बाहर निकल सकता है। आइए जानते हैं किशमिश का सेवन कैसे करें?

शराब की तलब लगने पर शराबी व्यक्ति को एक या फिर दो किशमिश चबाकर व चूसने के लिए दें। या फिर किशमिश का जूस बनाकर भी उसे सेवन करने के लिए कह सकते हैं। आहिस्ता-आहिस्ता शराब की आदत छूटने लगती है।

(4.) खजूर

शराब से छुटकारा दिलाने में खजूर का भी अपना ही एक अलग महत्व है। कैसे करें शराब छुड़ाने के लिए खूजर का इस्तेमाल  जान लें।

3 से 4 खूजर लें और इसे अच्छे से घिसें। इस मिश्रण पूरे दिन में दो से 3 बार शराबी व्यक्ति को सेवन करायें। जल्दी ही शराबी व्यक्ति अपने पीने की आदत में सुधार कर लेगा। जब तक शराब की लत पूरी तरह ना दूर जाये, तब तक शराबी व्यक्ति का खजूर का सेवन करने को कहते रहें।

(5.) करेला

बॉडी को डिटॉक्स करने के लिए करेले का सेवन बहुत उचित होता है। करने का सेवन करने से या फिर करेले का रस पीने से शरीर से विषैले पदार्थ बाहर निकल जाते हैं। आइए जानते हैं करेले का इस्तेमाल शराब की लत को कम करने के लिए कैसे करें?

सबसे पहले आप कुछ करेले लें। इनकी पत्तियों का रस निकाल लें। इस रस को आपने एक गिलास छांछ में 3 से 4 चम्मच मिलाकर शराबी व्यक्ति को सेवन कराना है। इसे आपको खाली पेट दिन में केवल एक बार सेवन करने को देना है। रोजाना यह प्रयोग करने से शराबी व्यक्ति की शराब की लत कम होने लगेगी। एक दिन वह पूरी तरह शराब से तौबा कर लेगा।

(6.) अदरक

ये एक ऐसी घरेलू आयुर्वेदिक औषधि है, जो बहुत सी स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं में बेहद कारगर है। शराब छुड़ाने के घरेलू नुस्खे में अदरक का इस्तेमाल बहुत उपयोगी साबित हो सकता है। आइए जानते हैं कैसे करें इस्तेमाल?

आपको अदरक के छोटे-छोटे टुकड़े कर लेने हैं। इसके बाद इन टुकड़ों पर सेंधा नमक मिलाना है। फिर एक आधा नींबू निचोड़ कर, इन्हें धूप में सुखा लेना है। ये हो गया आपका शराब छुड़ाने का घरेलू तरीका तैयार। इन सुखे हुए अदरक के टुकड़ों को आप एक साफ डिब्बे में रख लें।

अब जब भी आपको शराब की तलब लगे, एक टुकड़ा लें और चबा-चबा कर चूसें। दरअसल अदरक मुंह में घूलती नहीं है। इसलिए इसे आप लंबे समय तक मुंह में रखकर चूस सकते हैं। ये उपाय करने से आपकी शराब की तलब खत्म हो जाती है। इसमें सल्फर होता है, इसलिए धीरे-धीरे आप शराबी की लत पर काबू पाना सीख जाते हैं। फिर एक दिन पूरी तरह शराब की लत समाप्त हो जाती है। यहां तक कि बीड़ी, सिगरेट व तम्बाकु की लत पर भी कंट्रोल हो जाता है।

शराब की लत छुड़ाने की आयुर्वेदिक दवा (Sharab chhudane ki ayurvedic medicine)

नेचुरल तरीके से शराब की लत पर काबू पाना एक बेहतर विकल्प है। आयुर्वेद उपचार की मदद से शराब की लत को कम करना आपके लिए बेहतर परिणाम ला सकता है। ऐसी ही एक sharab chhudane ki ayurvedic dawa है ‘सूरज एडिक्टोस्योर पाउडर’ (Suraj’s AddictOsur Powder)।

इस दवा का निर्माण एकदम शुद्ध प्राकृतिक जड़ी-बूटियों मिलकर किया जाता है। इसलिए इस आयुर्वेदिक औषधि का सेवन करने से किसी भी प्रकार का कोई side effect नहीं होता है। प्रतिदिन नियमित रूप से इस दवा का सेवन करने से धीरे-धीरे शराब की लत कम होने लगती है। 3 से 4 महीने का कोर्स करने के बाद शराबी व्यक्ति पूरी तरह शराब से छुटकारा प्राप्त कर लेता है।

AddictOsur कैसे काम करता है?

जब आप इस औषधि का सेवन करते हैं। या शराबी व्यक्ति को बिना बताये उसके खाने-पीने चीजों में मिलाकर सेवन कराते हैं। तो यह दवा शरीर में अच्छी तरह से घुलकर शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर निकालती है। खून का साफ करती है। शरीर में सल्फर की मात्रा का स्तर बनाये रखने में मदद करती है। जिसके कारण शराब की लत पर काबू पाना आसान हो जाता है। इसके अलावा मानसिक तनाव को कम करती है। मन शांत रहता है। जिसके कारण संकल्प शक्ति बढ़ती है। शराब की तलब पर नियंत्रण पाने की शक्ति बढ़ती है। दिमाग कंट्रोल में रहता है। एक समय ऐसा आता है कि शराबी व्यक्ति पूरी तरह शराब से छुटकारा पा लेता है। अपनों के साथ समय बिताने लगता है। भविष्य में आगे बढ़ने के लिए अग्रसर होने लगता है। घर की सुख-शांति वापिस लौट आती है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *