Home > Men Health and wellness > गर्भ धारण करने के उपाय – How To Get Pregnant In Hindi
गर्भ धारण करने के उपाय - How To Get Pregnant In Hindi

गर्भ धारण करने के उपाय – How To Get Pregnant In Hindi

विवाह के बाद संतान प्राप्ति का सपना हर दम्पति का होता है। लेकिन गर्भ धारण करने के लिए स्त्री और पुरूष दोनों को बांझपन की समस्या नहीं होनी चाहिए। मेडिकल साइंस में बांझपन की समस्या को (Infertility) कहा जाता है।

अगर आप गर्भवती (Pregnant) होने के उपाय कर रही हैं, तो यह अवश्य जान लें कि आपको अपने स्वास्थ्य का पूरा ध्यान देना होगा। आपकी अस्वस्थता का असर आपके गर्भ को प्रभावित कर सकता है। बच्चे की सेहत पर प्रभाव डाल सकता है। इसलिए आपको चाहिए कि पहले ही सुनिश्चित कर लें कि कैसे आप अपनी सेहत और खानपान का ध्यान रखेंगी?

गर्भ धारण क्यों नहीं होता?

आप गर्भ धारण करने के उपाय कर रही हैं, लेकिन गर्भधारण में सफल नहीं हो पा रही हैं। तो संभव है कि आपको इनफर्टिलिटी की समस्या हो। आज जिस प्रकार की जीवनशैली लोगों ने अपना ली है, उसका परिणाम बांझपन की समस्या के रूप में सामने आ रहा है। यहां तक कि स्त्री के साथ-साथ पुरूषों में भी बांझपन की शिकायत देखने को मिल रही है।

बांझपन की समस्या के कारण निम्नलिखित हो सकते हैं। जैसे- अधिक तनाव लेना, डिप्रेशन, अनहेल्दी डाइट, नींद पूरी न होना, बैठे-बैठे देर तक काम करना, अधिक धूम्रपान व मदिरापान, पुरूषों में शुक्राणुओं की कमी आदि।

स्त्री हो या पुरूष अगर इनफर्टिलिटी की समस्या होगी, तो प्रेग्नेंसी में मुश्किलें आ सकती हैं। ऐसे में यह आवश्यक है कि आप गर्भवती होने के उपाय में फर्टिलिटी को बढ़ाने वाले आहार (Foods to Boost Fertility) का सेवन करें। 

फर्टिलिटी बढ़ाने के लिए क्या खायें?

आप ऐसे आहार का अधिक सेवन करें, जिससे आपको गर्भ धारण करने में मुश्किलें न आयें। साथ ही आपके गर्भ की सेहत भी अच्छी रहे। गर्भ धारण से पहले आप अपने आहार में इन चीजों को जरूर शामिल करें।

Vitamin ‘B वाले आहार का सेवन करें

यदि आप शीघ्र गर्भवती होने के उपाय कर रही हैं, तो आप अपनी प्रजनन क्षमता को बढ़ाने के लिए अपनी डाइट में विटामिन बी की मात्रा को बढ़ायें। इसके लिए हरी पत्तेदार सब्जियों (पालक, ब्रोकली, फूलगोभी, बीन्स आदि) का सेवन करें। हरी सब्जियों का सेवन करने से लिबिडो (Libido) में भी वृद्धि होती है। इसके अलावा साबूत अनाज, माँस, अंडे में विटामिन बी की भरपूर मात्रा होती है। इससे ओवुलेशन (Ovulation) में भी सुधार होता है।

बीन्स का सेवन करें

प्रेग्नेंट होने का उपाय यह भी है कि आप सब्जियों में बीन्स को भी शामिल कर दें। बीन्स में प्रोटीन (Protien) और आयरन (Iron) अच्छी मात्रा में होता है, जो अंडाशय (Ovary) को स्वस्थ रखते हैं। प्रजनन क्षमता को सुधारते हैं।

दूध से बने उत्पाद का सेवन करें

दूध या दूध से बने उत्पाद में कैल्श्यिम की मात्रा अच्छी होती है। कैल्शियम की अच्छी मात्रा होने से हड्डियां स्वस्थ रहती हैं और साथ ही प्रजनन क्षमता में वृद्धि होती है। दूध से बने उत्पाद यानी Dairy Product  में आप दूध, पनीर, छांछ, दही आदि का सेवन करें। कैल्श्यिम के अलावा इन चीजों में एक विशेष प्रकार का प्रोटीन भी होता है, जो अंडाशय की सेहत को सुधारने का कार्य करता है। ओवरी की कार्य करने की क्षमता को सुधारता है। साथ ही ओवुलेशन की समस्या भी ठीक होती है।

Continue Reading: बच्चा पैदा करने के लिए स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए

बादाम के सेवन से बढ़ायें फर्टिलिटी

बादाम एक ऐसा ड्राई फ्रूट्स है, जोकि सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। बादाम में कॉपर, विटामिन ई, मैंगनीज, बायोटिन भरपूर होता है। इसलिए इसको खाने से Mahilao Me Banjhpan Ki Samasya को ठीक किया जा सकता है। ओवरी की कार्य क्षमता को सुधारने में भी बादाम का सेवन लाभकारी होता है। इसके अलावा गर्भ में शिशु का विकास भी सही प्रकार से होता है। महिलाओं को डिलीवरी के समय होने वाले दर्द को सहने की ताकत भी मिलती है।

फोलिक एसिड (Folic Acid)

गर्भ धारण की क्षमता को बढ़ाने के लिए Folic Acid को Ignore नहीं किया जा सकता। फोलिक एसिड से गर्भ धारण की क्षमता में तो वृद्धि होती ही है, साथ ही गर्भ के विकास में भी यह महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। फोलिक एसिड की कमी को दूर करने के लिए आप आलू, चुकंदर, सोयाबीन, केला, गेहूँ व ब्रोकली आदि का सेवन करे।

इनफर्टिलिटी से बचने के उपाय (Infertility se bachne ke upay in hindi)

शरीर में पानी की कमी को दूर करें

कहते हैं जल ही जीवन है। अगर आप गर्भ धारण के जरिए एक नए जीवन को जन्म देने का सोच रही हैं, तो आपको चाहिए कि शरीर में पानी की कमी नहीं होने दें। ये आपके लिए भी और आपके गर्भ में आने वाले शिशु के लिए भी जरूरी है। पूरे दिन में 8 से 10 गिलास पानी जरूर पीएं। 

एक्सरसाइज करें

सेहतमंद और फिट रहना भी गर्भ धारण की क्षमता को बढ़ाने का एक अच्छा उपाय है। इसके लिए आप नियमित रूप से व्यायाम करें। लेकिन ध्यान रखें कि अपनी शारीरिक क्षमता से अधिक व्यायाम न करें। बहुत ज्यादा थका देने वाले Workout से बचें। क्योंकि अक्सर देखा गया है कि जो महिलाएं अधिक शारीरिक श्रम करती हैं। अधिक भार उठाने वाला काम करती हैं, उनमें मासिक चक्र की समस्या आ जाती है। 

तनाव मुक्त रहें

आप दोनों दम्पति को चाहिए कि गर्भ धारण के लिए Relax रहें। अधिक मानसिक तनाव न लें। विशेषकर महिलाएं अपने दिमाग और मन को शांत रखें। लंबे समय तक तनाव लेना आपकी Fertility को प्रभावित कर सकता है। इसलिए अधिक से अधिक खुश रहने का प्रयास करें।

जननांग क्षेत्र का तापमान अधिक न होने दें

गर्भ धारण करने के लिए पुरूष भी अपनी सहभागिता निभाता है। Aurat Pregnant Karne Ke Liye शुक्राणु की जरूरत होती है। पुरूष में शुक्राणुओं की कमी के कारण वह औरत को गर्भवती नहीं कर पाता। इसलिए पुरूषों को यह बात ध्यान में रखनी होगी कि वे अपने जननांगो के तापमान को बढ़ने से रोकें। वृषणों का तापमान बढ़ जाने के कारण शुक्राणुओं के बनने में समस्या उत्पन्न होने लगती है।

इसलिए जननांगो का तापमान न बढ़े, इसके लिए देर तक बैठे रहना, लंबे समय तक लैपटॉप का गोद में रखकर काम करना या गर्मी के वातावरण में  अधिक रहना, इन सबसे बचें।

जानिए शुक्राणु बढ़ाने के घरेलू उपाय

संभोग की अनदेखी न करें

जाहिर-सी बात है कि गर्भ धारण करने के लिए संभोग की सबसे अहम भूमिका होती है। नियमित रूप से शारीरिक मिलन करने से गर्भ धारण की संभावना बढ़ जाती है। हालांकि ओवुलेशन पीरियड (Ovulation Period) में किया गया मिलन ही गर्भ धारण की संभावना को बढ़ाता है।

शराब का सेवन न करें

पति अगर पत्नी को गर्भवती करना चाहता है या पत्नी गर्भ धारण करने का प्रयास कर रही है। तो कोशिश करें कि दोनों ही Alcohol लेना बंद कर दें। या फिर बहुत की कम कर दें। अधिक मात्रा में मदिरापान करने से पुरूषों की प्रजनन क्षमता प्रभावित हो सकती है।

धूम्रपान न करें

पुरूषों में फर्टिलिटी की समस्या का मुख्य कारण धूम्रपान भी होता है। स्त्री यदि गर्भवती होने के बाद भी धूम्रपान करती रहे, तो यह गर्भस्थ शिशु की सेहत के लिए बहुत ज्यादा हानिकारक है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *